पंजाब:राज्य के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल की मां का हुआ निधन,अंतिम संस्कार होगा बादल गांव में

Image result for manpreet badal with mother

राज्य के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल की माता स. हरमंदर कौर का वीरवार की सुबह करीब साढ़े तीन बजे निधन हो गया है। स्वस्थ ठीक ना होने के चलते उनका पीजीआई चंडीगढ़ में इलाज चल रहा था। बुधवार देर शाम ही उन्हें गांव बादल स्थित निवास पर लाया गया था। जहां आज सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली।उनका अंतिम संस्कार दोपहर तीन बजे गांव बादल में होगा। उधर, पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपनी चाची की मौत पर अफसोस प्रकट किया है। जबकि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी स. हरमंदर कौर के निधन पर ट्टिवट करते हुए मनप्रीत बादल परिवार के साथ अफ़सोस प्रकट किया है।

रेलवे ने कोरोना वायरस के ख़तरे के कारण 20 मार्च से 31 मार्च तक ट्रेनों को रद्द किया

Image result for railway

रेलवे ने कोरोना वायरस के खतरे और यात्रियों की कम संख्या के कारण गुरुवार को 84 और ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है यह फैसला 20 मार्च से 31 मार्च तक लागू रहेगा। रद्द ट्रेनों की कुल संख्या 155 पर पहुंच गई है।

एक अधिकारी ने बताया, इन 155 ट्रेनों में टिकट कराने वाले सभी यात्रियों को व्यक्तिगत रूप से इसके बारे में सूचित किया जा रहा है। इन ट्रेनों के लिए टिकट रद्द करने पर लगने वाला शुल्क नहीं वसूला जाएगा। यात्रियों को 100 प्रतिशत किराया वापस मिलेगा।राष्ट्रीय परिवाहक ने अपने कैटरिंग कर्मचारियों के लिए जोनल मुख्यालयों को दिशा निर्देश भी जारी किए थे जिसमें कहा गया कि बुखार, खांसी, जुकाम या सांस लेने में मुश्किल होने की शिकायत करने वाले किसी भी कर्मचारी को भारतीय रेलवे में भोजन बनाने से जुड़े किसी भी काम में तैनात न किया जाए।

कोरोनावायरस/दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से कोरोना के संदिग्ध मरीज ने 7वीं मंजिल से कूदकर खुदकुशी की

Image result for safdarjung hospital delhi

नई दिल्ली: बुधवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से कोरोना के संदिग्ध मरीज ने 7वीं मंजिल से कूदकर खुदकुशी कर ली,इस व्यक्ति की उम्र 35 साल थी। हालांकि, अस्पताल के पीआरओ दिनेश नारायण ने बताया कि फिलहाल हम इस बात की पुष्टि नहीं कर सकते हैं कि वह कोरोनावायरस का मरीज था या नहीं।

अस्पताल प्रशासन ने बताया कि मरीज ऑस्ट्रेलिया के सिडनी से भारत आया था और उसे सिरदर्द की शिकायत थी। एयरपोर्ट के अधिकारी उसे तुरंत अस्पताल लेकर आए और यहां उसको आइसोलेशन वॉर्ड में रखा गया था।मरीज के सैंपल जांच के लिए भेज दिए गए थे और रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा था। इसी दौरान उसने आइसोलेशन वॉर्ड के दरवाजे को धक्का देकर सातवीं मंजिल से छलांग लगा दी।

चंडीगढ: लुधियाना की इंडिया इन्फोलाइन फाइनांस लिमिटेड में हुई लूट के मुख्य आरोपी गैंगस्टर गगन जज को चंडीगढ में दबोचा

IMG_20190927_143812.jpg

पंजाब पुलिस ने लुधियाना की इंडिया इन्फोलाइन फाइनांस लिमिटेड की ब्रांच से हुई लूट के मामले में गैंगस्टर गगन जज को चंडीगढ़ से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने गैंगस्टर गगन जज से अपने कब्जे में 31 लाख रुपए कैश, एक पिस्टल, दो मैग्जीन व अन्य सामान भी बरामद किया है। अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की टीमें छापेमारी कर रही हैं।

वारदात 17 फरवरी की है, जब सुबह लुधियाना के गिल रोड स्थित आईआईएफएल की ब्रांच में घुसकर चार बदमाशों ने 30 किलो सोना और साढ़े 3 लाख रुपए कैश लूट लिया था। सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक लुटेरे सुबह 9 बजकर 43 मिनट पर बैंक में घुसे। कंपनी की महिला कर्मचारी ने बताया था कि 10 बजे के बाद शाखा में पहुंची थी। तब मेन गेट खुला हुआ था। एक ने सिर पर मंकी कैप पहनी थी। बाकी ने हुड पहन रखे थे और मुंह पर कपड़ा बांधा था। आरोपी आपस में पंजाबी में बात कर रहे थे। उन्होंने मैनेजर से ही डिजिटल लॉक खुलवाया। फिर सोना थैलों में भरकर 10 बजकर 30 मिनट पर गाड़ी में बैठकर निकल गए।

पुलिस को सूचना मिली कि लूट कांड का मुख्य आरोपी गैंगस्टर गगन जज चंडीगढ़ के सेक्टर-36 की मार्केट में है। इसके पंजाब पुलिस की क्राइम कंट्रोल यूनिट ने जब गैंगस्टर को पकड़ने का प्रयास किया तो उसने टीम पर फायर करने की कोशिश की, लेकिन पुलिस की सतर्कता से उसे दबोच लिया गया।

पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने ओसीसीयू की टीम को उसकी बहादुरी के लिए पुरस्कृत करने का एलान किया है। उन्होंने कहा कि गिरोह के अन्य सदस्यों और गगन के गुर्गों को लुधियाना के मामले में पकड़ने के लिए छापे मारे जा रहे थे। गगन लगभग तीन हफ्ते पहले हुई डकैती में शामिल पांच संदिग्धों में से एक है।गगनदीप जज उर्फ गगन जज और उसके गिरोह के सदस्य कथित तौर पर कांट्रैक्ट किलिंग के दो दर्जन मामलों समेत हत्या, जबरन वसूली, ऑटो स्नैचिंग और अन्य गंभीर आपराधिक गतिविधियों में शामिल रहे हैं। गगन के एक अन्य फरार गैंगस्टर जयपाल से करीबी संबंध रहे हैं। ओसीसीयू के आईजी कंवर विजय प्रताप के निर्देशन में हुए इस आपरेशन की जानकारी देते हुए डीजीपी ने टीम की सफलता की सराहना की। उन्होने बताया कि एक चोरी की गई आई-20 कार के साथ इस गैंगस्टर के कब्जे से तीन वाकी-टाकी भी बरामद किए गए हैं।

कांग्रेस के पूर्व विधायक ललित नागर के घर इनकम टैक्स विभाग की पड़ी रेड

Image result for lalit nagar

फरीदाबाद: हरियाणा की तिगांव विधानसभा से कांग्रेस के पूर्व विधायक ललित नागर के घर पर बुधवार को इनकम टैक्स विभाग की रेड पड़ी। रेड फरीदाबाद के सेक्टर-17 में स्थित उनके घर पर पड़ी है। आयकर विभाग की टीम ने बुधवार की सुबह ललित नागर के सेक्टर-17 स्थित निवास के साथ-साथ गांव फत्तूपुरा, अमीरपुर और भुआपुर में उनके समर्थकों के घर पर भी छापा मारा है। यह छापेमारी नागर समर्थक केहर नागर, विकल नागर और अशोक के निवास पर की गई है।

नागर के घर के बाहर पुलिस का पहरा है। टीम अंदर जांच कर रही है। बताया जा रहा है कि आयकर विभाग ने नागर को एक नोटिस भेजा था। उस नोटिस के जवाब से असंतुष्ट होकर ये रेड की गई है। ललित नागर घर के अंदर ही हैं। उनके घर पर इससे पहले भी दो बार ईडी की छापेमारी हो चुकी है। नागर का आरोप है कि आयकर विभाग की टीम केवल उन्हें परेशान करने के लिए ऐसा कर रही है।

ललित नागर के यहां हरियाणा में विधानसभा चुनावों के दौरान ईडी ने छापेमारी की थी। इससे पूर्व भी ईडी ने नागर के घर पर छापा मारा था। बताया जाता है कि राबर्ट वाड्रा से नागर परिवार के ताल्लुक होने के चलते ईडी ने यहां छापेमारी की थी। ललित नागर के भाई महेश नागर की नजदीकियां रॉबर्ट वाड्रा से हैं। उन्होंने रॉबर्ट वाड्रा को राजस्थान के बीकानेर में 270 बीघा जमीन दिलवाई थी। इसी को लेकर ईडी ने छापेमारी की थी। महेश नागर को वाड्रा की कंपनी ने जमीन खरीदने-बेचने की पावर ऑफ अटार्नी दी थी।

चंडीगढ़: एक बेजुबान पक्षी बाज के जले पैरों में आर्टिफिशियल लिंब के सहारे अब बाज उड़ान भरने को तैयार

आर्टिफिशियल लिंब लगने के बाद अपने पैरों पर खड़ा बाज

चंडीगढ़: डॉ. करनबीर सिंह ने एक बेजुबान पक्षी बाज के जले पैरों में आर्टिफिशियल लिंब लगाने का काम कर दिखाया। डाॅ. करनबीर सिंह के मुताबिक, चूंकि पक्षी के पैर हल्के हाेते हैं और ऐसे में लिंब तैयार करने के लिए लाइट वेट मटेरियल जुटाना मुश्किल था। फिर इंपोर्टेड थर्मोप्लास्टी से पक्षी के लिंब तैयार किए। जैसे ही बाज लिंब के सहारे कंफर्टेबल हो जाएगा, तो उसे उड़ान भरने के लिए छोड़ दिया जाएगा। सबसे पहले बाज की प्रजाति का पता लगाया। बाज शिक्रा प्रजाति का निकला। जिसके बाद आर्टिफिशियल लिंब तैयार किये गए। कई बार सेटिंग के लिए बाज काे सेंटर पर लाया गया। अब बाज लिंब के सहारे चलने लगा है।

शहर के रहने वाले जीत बराड़ सिंह को अपने आंगन में एक बाज मिला था। उसके दोनों पैर जले हुए थे। इस वजह उसे खड़े होने और उड़ने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। जीत बाज को इंंडस्ट्रीयल एरिया फेज 2 स्थित दीप आर्टिफिशियल लिंब सेंटर ले गए। जहां एक महीने की कोशिश के बाद आर्टिफिशियल लिंब को सफलतापूर्वक लगा दिया गया। जैसे ही बाज लिंब के सहारे कंफर्टेबल हो जाएगा, तो उसे उड़ान भरने के लिए छोड़ दिया जाएगा।

हरियाणा के पुलिसकर्मीयों को कोरोनावायरस से बचाव के लिए प्रोटेक्टिंग इक्विपमेंट दिए जाएंगे

Image result for coronavirus navdeep singh virak

पानीपत: हरियाणा के पुलिस विभाग ने कोरोनावायरस से बचाव के लिए भीड़भाड़ वाले इलाकों में ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मचारियों को प्रोटेक्शन इक्विपमेंट उपलब्ध करवाने का फैसला किया है। एडीजीपी लॉ एंड ऑर्डर नवदीप सिंह विर्क ने सभी एसपी, कमिशनर ऑफ पुलिस और बटालियन कमाडेंट इंचार्ज को इस संबंध में आदेश दिए हैं।

हरियाणा के एडीजीपी लॉ एंड ऑर्डर नवदीप सिंह विर्क द्वारा जारी पत्र में कहा गया है कि जो पुलिसकर्मी दूसरे व्यक्तियों से नजदीक से संपर्क में आते हैं, भीड़ को नियंत्रित करते हैं, ट्रैफिक ड्यूटी करते हैं, उन्हें तत्काल प्रोटेक्टिंग इक्विपमेंट जैसे दस्ताने, मास्क और हैंड सेनिटाइजर जैसी चीजें उपलब्ध करवाए जाएं।

शिमला: साउथ काेरिया से लाैटे बिलासपुर के रहने वाले एक व्यक्ति में पाए गए काेराेना वाॅयरस के लक्षण

Image result for coronavirus

शिमला: बिलासपुर के रहने वाले एक व्यक्ति में काेराेना वाॅयरस लक्षण पाए गए हैं। यह व्यक्ति 28 फरवरी काे साउथ काेरिया से लाैटा था।मंगलवार काे बिलासपुर से पेशेंट काे आईजीएमसी शिमला रेफर किया गया। आईजीएमसी में काेराेना वाॅयरस का पहला संदिग्ध पेशेंट आने से हड़कंप मच गया है। यहां पर पहले ही प्रशासन ने आइसाेलेशन वार्ड काे खाली करवा दिया था।इसमें एडमिट स्वाइन फ्लू व अन्य पेशेंट काे दूसरे वार्डाें में शिफ्ट कर दिया गया। पेशेंट के ब्लड सैंपल लेकर वाॅयराेलाॅजी लैब पुणे में जांच के लिए भेज दिए गए हैं। डाॅक्टराें की स्पेशल टीम की निगरानी में पेशेंट काे रखा गया है।

जहां पर पेशेंट है, उस एरिया में विशेषज्ञ चिकित्सकाें के इलावा किसी काे जाने की अनुमति नहीं है।प्रशासनिक अधिकारियाें का कहना है कि आईजीएमसी में पूरी तैयारियां है। हालांकि पेशेंट काे पीजीआई रेफर भी नहीं कर सकते क्याेंकि पीजीआई ने पहले ही काेराेना के पेशेंट काे रेफर ना करने काे लेकर प्रशासन काे पत्र भेज दिया था।

चंडीगढ़: पीजी में लगी आग से तीन छात्राओं की दर्दनाक मौत, डीसी ने एसडीएम से मांगी रिपोर्ट

चंडीगढ़ में शनिवार बाद दोपहर सैक्टर 32 के पीजी में लैपटॉप को चार्ज करते समय शॉर्ट सर्किट से आग लगने की घटना में कोटकपूरा शहर के प्रमुख कारोबारी और सट्टा बाजार निवासी नवदीप ग्रोवर की बेटी पाक्षी ग्रोवर की भी दर्दनाक मौत हो गई। इस घटना की जानकारी मिलते ही पाक्षी के पिता नवदीप ग्रोवर अपने भाई व अन्य रिश्तेदारों के साथ चंडीगढ़ रवाना हो गए।

बता दें कि इस पीजी में कुल 10 से 12 कमरे बने हुए हैं। आग एक कमरे में लगी और तेजी से फैल गई। धुएं से पीजी में मौजूद छात्राओं का दम घुटने लगा। हादसे के समय करीब 25 छात्राएं पीजी में मौजूद थीं। शोर मचते ही इनमें से 20 निकलने में कामयाब हो गईं, जबकि पांच छात्राएं धुएं और आग में फंस गईं। इनमें से तीन छात्राओं की दर्दनाक मौत हो गई है।

पाक्षी ग्रोवर बचपन से ही प्रतिभाशाली छात्रा रही। परिवार के अनुसार उसने दसवीं कक्षा तक की पढ़ाई कोटकपूरा के दशमेश पब्लिक स्कूल से की थी और 11वीं कक्षा में कॉमर्स विषय की पढ़ाई के लिए उसने कोटकपूरा के डीएवी पब्लिक स्कूल में दाखिला लिया था। पाक्षी ने सीबीएसई 12वीं की परीक्षा में 97.6 प्रतिशत अंक के साथ डीएवी स्कूल में टॉप किया था।पाक्षी ग्रोवर का इकलौता बड़ा भाई स्टडी बेस पर कनाडा गया हुआ है। वह भी अपने बड़े भाई की तरह कनाडा जाना चाहती थी और इसी मंशा से उसने चंडीगढ़ के एसडी कॉलेज में बीबीए में दाखिला लिया था। बताया जा रहा है कि वह चंडीगढ़ के एक कैनेडियन संस्थान में कोचिंग भी कर रही थी।

पाक्षी ग्रोवर के दादा प्रीतम लाल ने बताया कि हादसे के कारण उनका परिवार पूरी तरह से टूट गया है। उन्होंने तो पाक्षी को उसके सपने साकार करने के लिए चंडीगढ़ भेजा था, लेकिन उन्हें क्या पता था कि ऐसा हादसा हो जाएगा, जिससे परिवार के उम्मीदें ही चकनाचूर हो जाएंगी और वह कभी उसका मुंह नहीं देख पाएंगे। 

तीन छात्राओं की मौत के मामले में डीसी मनदीप सिंह बराड़ ने तीनों एसडीएम से रिपोर्ट तलब कर ली है। डीसी ने पूछा है कि उन्होंने अवैध पीजी के खिलाफ अब तक क्या कार्रवाई की है। जवाब के लिए तीनों को सोमवार तक का समय दिया गया है।एस्टेट ऑफिस से शहर में अवैध रूप से चल रहे पीजी को लेकर रिपोर्ट मांगी थी। एस्टेट ऑफिस की ओर से दी गई जानकारी में कहा गया था कि अब तक 142 पीजी संचालकों को वायलेशन के नोटिस जारी किए गए हैं। अग्रिम कार्रवाई के लिए तीनों एसडीएम को रिपोर्ट प्रेषित की गई है।

चीन में कोरोनावायरस की वजह से मौतों की संख्या दो हजार के पार पहुंची,रूस ने प्रवेश करने पर लगाई रोक

Image result for coronavirus china

चीन से फैले खतरनाक कोरोनावायरस की वजह से होने वाली मौतों की संख्या दो हजार के पार पहुंच गई है। इसके अलावा 70 हजार से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। 20 फरवरी से सभी चीनी नागरिकों को रूस में प्रवेश करने से रोक लगा दी हैं।चीन में कोरोनावायरस से एक अस्पताल के निदेशक की मंगलवार को मौत हो गई। देश में कोरोनावायरस से अब तक छह चिकित्साकर्मियों की मौत हो चुकी है और 1,716 कर्मी इससे संक्रमित हैं।चीन के शंघाई में कोरोनावायरस के चलते स्कूल बंद हैं और बच्चों की पढ़ाई में आ रही रुकावट को देखते हुए अब उन्हें ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाया जाएगा।

क्रूज के सभी मुसाफिरों और चालक दल के सदस्यों की जांच का काम पूरा हो गया है।इस पर्यटन जहाज पर दक्षिण कोरिया के 400 यात्री कोरोना से पीड़ित पाए गए हैं और अब उनका देश उन्हें वहां से ले जाने की तैयारी कर रहा है। ब्रिटेन भी अपने नागरिकों को निकालने की तैयारी में हैं। इस जहाज पर अबतक 542 लोगों में कोरोना वायरस का पता चल चुका है।