लुधियाना: 6000 रुपए मासिक वेतन पर काम करने वाले लड़के को आयकर विभाग ने भेजा 3 करोड़ 49 लाख का नोटिस

लुधियाना: लुधियाना के रहने वाले रवि गुप्ता को इनकम टैक्स विभाग ने 3 करोड़ 49 लाख का नोटिस भेजा। विभाग ने रवि गुप्ता को 17 जनवरी 2020 तक रकम जमा करने का नोटिस भेजा।

रवि ने नजदीकी विभाग से इस मामले संबंधी जांच पड़ताल की तब पता चला कि रवि गुप्ता के नाम का मुंबई में एक्सिस बैंक में खाता था जिसमें साल 2011 में 132 करोड़ का लेन देन हुआ था,जिसके आधार पर रवि गुप्ता को नोटिस भेजा गया है।

रवि गुप्ता ने विभाग को बताया कि वह गल्ला मंडी मिहोना,भगवान नगर धोलेवाल लुधियाना का रहने वाला हूं और जिस पते पर एक्सिस बैंक का खाता खोला गया है वह टिया ट्रेडर्स 7/ए जियार्डी धन मैनसन, गझधर रोड, सी वार्ड, एस एस रोड मुंबई महाराष्ट्र का है जो कि मेरा नहीं है।

रवि गुप्ता ने आयकर विभाग के अधिकारियों को बताया कि वह लुधियाना में एक निजी कम्पनी में 6000 रुपए मासिक वेतन पर नौकरी करता है और उसे विभाग ने 3 करोड़ 49 लाख का नोटिस भेज दिया है।

चंडीगढ़: सौतेले बाप ने अपनी बेटी के साथ शादी का दबाव डाला और दुष्कर्म कर रिश्तों को किया शर्मसार


चंडीगढ़ में रिश्ते को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। 35 वर्षीय सौतेले पिता ने 16 वर्षीय बेटी से शादी करने के लिए करवाचौथ का व्रत रखवाया। इतना ही नहीं, बेटी के साथ दुष्कर्म कर उसे चार महीने की गर्भवती करने का आरोप है।

मामले का खुलासा उस वक्त हुआ, जब उसके पेट में दर्द हुआ। इसके बाद मामले की सूचना पुलिस और चाइल्ड हेल्पलाइन को दी गई। सेक्टर-36 थाना पुलिस ने धारा 376 और 506 के तहत मामला दर्जकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
किशोरी ने हिम्मत कर इसकी सूचना चाइल्ड हेल्पलाइन को दी।जब पुलिस और चाइल्ड हेल्पलाइन टीम को इसकी सूचना मिली। इसके बाद मौके पर चाइल्ड हेल्पलाइन टीम पहुंची और बच्ची से काउंसलिंग शुरू कर दी। टीम को 16 वर्षीय किशोरी ने बयान में बताया कि उसका परिवार मूलरूप से उत्तर प्रदेश के जौनपुर का है। वह चंडीगढ़ में रहने वाले सौतेले पिता से घर का खर्चा चलाने के लिए पैसे लेने आई थी।
आरोप है कि इस दौरान उसने धमकी देकर दुष्कर्म किया। इसके बाद चार माह से धमकी देकर दुष्कर्म करता रहा। वह किशोरी से शादी करना चाहता था। इसके लिए उसने करवाचौथ का व्रत भी जबरन रखवाया।

टीम की जांच में सामने आया कि किशोरी पांच भाई बहनों में सबसे बड़ी है। आरोपी पिछले काफी समय से चंडीगढ़ में रह रहा है। वह उत्तर प्रदेश में रहने वाले परिवार को खर्च नहीं भेजता था। वहीं, पुलिस का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है।

जम्मू कश्मीर: डीएसपी दविंदर सिंह के साथ पकड़े गए वकील के घर मिला आतंकियों का ठिकाना, पूछताछ में होगें कई खुलासे


कश्मीर घाटी में हिजबुल कमांडर नवीद बाबू और डीएसपी दविंदर सिंह के साथ पकड़े गए वकील और ओवर ग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) इरफान अहमद मीर के घर आतंकी ठिकाना मिला है। गुरुवार को इस मामले में पूछताछ के लिए दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। मामले की जांच कर रही एजेंसियां इसे बड़ी सफलता मान रही हैं।
सूत्रों के अनुसार वकील के शोपियां जिला स्थित दयारू गांव में आतंकी ठिकाने से हथियार या किसी प्रकार की आपत्तिजनक सामग्री बरामद नहीं हुई है। माना जा रहा है कि नवीद बाबू और डीएसपी की ओर से यहां हथियार छिपाए जाते रहे होंगे। वकील इरफान अहमद मीर पांच बार भारतीय पासपोर्ट पर पाकिस्तान गया था। आरोप है कि वह पाकिस्तान से आतंकी वारदातों के लिए आदेश हासिल करता था।

11 जनवरी को जब डीएसपी और हिजबुल कमांडर नवीद बाबू व एक अन्य आतंकी की दक्षिणी कश्मीर के मीर बाजार इलाके में गिरफ्तारी हुई थी, उस वक्त इरफान ही गाड़ी चला रहा था।

पूछताछ में सुरक्षा एजेंसियों को यह भी जानकारी मिली थी कि नवीद बाबू तथा उसके साथ ही को इरफान ही लेकर डीएसपी के इंदिरा नगर स्थित घर पर गया था। बताते हैं कि डीएसपी नवीद बाबू को चंडीगढ़ में कुछ महीनों तक किराये पर ठहराने के लिए 12 लाख रुपये लिया था। पिछले साल भी वह नवीद बाबू को जम्मू लाया था। यहां कुछ दिनों तक स्वास्थ्य लाभ के बाद उसे शोपियां सुरक्षित पहुंचाया था।

आतंकियों संग पकड़े जाने पर दविंदर सिंह ने कहा कि जिन आतंकियों के साथ उसे पकड़ा गया है वो उसके व्यक्तिगत सुरक्षा अधिकारी हैं। इसके बाद उसने कहा कि मैं एक ऑपरेशन पर था, अगर ये ऑपरेशन सफल हो जाता तो प्रदेश पुलिस की वाहवाही होती। इतना ही नहीं आरोपी डीएसपी ने पूछताछ कर रहे अधिकारियों से कहा कि आप सभी ने मेरे प्लान पर पानी फेर दिया।
डीएसपी दविंदर सिंह की दो बेटियां बांग्लादेश में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रही हैं। ऐसे में जांच एजेंसी को शक है कि बेटियों की पढ़ाई का खर्च हवाला के पैसे से हो रहा है। डीएसपी के घर तलाशी में सेना की 15 कोर का फुल लोकेशन मैप मिला है। सेना का मैप मिलने से आशंका जताई जा रही है कि सेना की कई जानकारियां आतंकियों और पाकिस्तान तक पहुंच सकती है। साथ ही साढ़े सात लाख रुपये कैश बरामद किया है। संभव है कि यह पैसा हवाला का हो।
एयरफोर्स की इंटेलीजेंस विंग भी कर सकती है जांच
सूत्रों ने बताया कि एयरफोर्स की इंटेलीजेंस विंग भी मामले की जांच कर सकती है। चूंकि डीएसपी एयरपोर्ट पर एंटी हाइजैकिंग विंग में तैनात थे। इस वजह से सुरक्षा संबंधी मामलों पर उनसे पूछताछ की जा सकती है।
एनआईए की ओर से आज यानी कि शुक्रवार को मामले को हाथ में लिया जा सकता है। दिल्ली से एक टीम श्रीनगर आकर पूरे मामले की तहकीकात शुरू करेगी। इस संबंध में जरूरी औपचारिकताएं दिल्ली व जम्मू में पूरी की जाएंगी। गृह मंत्रालय ने एनआईए को मामले की जांच की प्रक्रिया शुरू करने को कहा है। जांच शुरू होते ही इस मामले से जुड़े सभी कागजात एनआईए को सौंप दिए जाएंगे।

दिल्ली के सब इंस्पेक्टर ने युवती से किया दुष्कर्म और ठगे 3 लाख रुपए

दिल्ली के सब इंस्पेक्टर ने युवती को सरकारी नौकरी का झांसा देकर 3 लाख रुपए ठगे और युवती के साथ दुष्कर्म कर वीडियो बनाकर करता रहा ब्लैकमेल।

मुरादाबाद में रहने वाली युवती के खाते से दिल्ली के किसी व्यक्ति ने एकाउंट हैक कर खाते से पैसे निकलवा लिए थे। युवती इसी मामले की शिकायत देने के लिए दिल्ली पहुंची। दिल्ली के सकरपुर थाने में युवती की मुलाकात सब इंस्पेक्टर से हुई जो मेरठ के कंकरखेड़ा का रहने वाला है।

थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाने के बाद सब इंस्पेक्टर ने युवती का मोबाइल नंबर ले लिया।सब इस्पेक्टर ने युवती को बोला की वह उसे दिल्ली में नौकरी लगवा देगा पर उसे 3 लाख रुपए और अपने प्रमाण पत्र देने होंगे। युवती से 3 लाख लेने के बाद उसे नौकरी नहीं मिली जिसके बाद सब इंस्पेक्टर ने युवती को दिल्ली में ही कोई प्राइवेट जॉब लगवा दी।सब इंस्पेक्टर ने उसे अपने ही घर में रख लिया। सब इंस्पेक्टर ने युवती के साथ दुष्कर्म किया और अपने मोबाइल में वीडियो बना ली। सब इंस्पेक्टर ने वीडियो के जरिए ब्लैकमैल किया। युवती के साथ शादी का झूठा सर्टिफिकेट भी बना लिया। इसी बीच युवती को पता चला कि वह पहले से ही शादीशुदा है और उसके साथ धोखा हुआ है। युवती ने आरोपी सब इंस्पेक्टर को कहा कि वे इसकी शिकायत उच्च पुलिस अधिकारी को देगी। आरोपी ने और उसके साथ आए साथियों ने उसके साथ मारपीट की और उसे धमकाया।

युवती ने उच्च पुलिस अधिकारी को इस मामले सबंधी शिकायत दी। एस एस पी ने महिला पुलिस को इस मामले की जांच करने के आदेश दिए है।

नई दिल्ली: कोर्ट ने जम्मू कश्मीर की पाबंदियों पर आज सुनाया फैसला


जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के बाद इंटरनेट बैन और लॉक डाउन के खिलाफ दाखिल याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने आज फैसला सुनाया। जस्टिस एनवी रमणा, जस्टिस सुभाष रेड्डी और जस्टिस बीआर गवई की संयुक्त बेंच ने इस मामले में फैसला सुनाया। जस्टिस रमना ने फैसला पढ़ते हुए कश्मीर की खूबसूरती का जिक्र किया।उन्होंने कहा कि कश्मीर ने बहुत हिंसा देखी है। इंटरनेट फ्रीडम ऑफ स्पीच के तहत आता है।यह फ्रीडम ऑफ स्पीच का जरिया भी है।इंटरनेट आर्टिकल-19 के तहत आता है। नागरिकों के अधिकार और सुरक्षा के संतुलन की कोशिशें जारी हैं। इंटरनेट बंद करना न्यायिक समीक्षा के दायरे में आता है। जम्मू-कश्मीर में सभी पाबंदियों पर एक हफ्ते के भीतर समीक्षा की जाएकोर्ट ने कहा कि इंटरनेट पर अनिश्चितकाल के लिए प्रतिबंध नहीं लगाया जा सकता। जहां जरूरत हो वहां फौरन इंटरनेट बहाल हो। कोर्ट ने कहा कि व्यापार पूरी तरह से इंटरनेट पर निर्भर है
धारा 144 लगाना भी न्यायिक समीक्षा के दायरे में आता है। सरकार 144 लगाने को लेकर भी जानकारी सार्वजनिक करे। समीक्षा के बाद जानकारी को पब्लिक डोमेन में डालें ताकि लोग कोर्ट जा सकें
5 अगस्त, 2019 को जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर उसे दो केंद्र शासित राज्यों में बांट दिया गया था। जम्मू-कश्मीर में तब से इंटरनेट बंद है
अदालत ने इस दौरान जिन प्रमुख बातों पर जोर दिया वह है, संविधान के अनुच्छेद 19 (1) (ए) के तहत बोलने और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में इंटरनेट का अधिकार शामिल है। इंटरनेट पर प्रतिबंधों पर अनुच्छेद 19 (2) के तहत आनुपातिकता के सिद्धांतों का पालन करना होगा। अनिश्चितकाल के लिए इंटरनेट का निलंबन मंजूर नहीं है। यह केवल एक उचित अवधि के लिए हो सकता है और वक्त-वक्त पर इसकी समीक्षा की जानी चाहिए।सरकार को पाबंदी के सभी आदेशों को प्रकाशित करना चाहिए ताकि प्रभावित लोग अदालत जा सकें।धारा 144 सीआरपीसी के तहत निषेधाज्ञा आदेश असंतोष जताने पर नहीं लगाया जा सकता।धारा 144 के तहत आदेश पारित करते समय मजिस्ट्रेट को व्यक्तिगत अधिकारों और राज्य की सुरक्षा के हितों को संतुलित करना चाहिए

पठानकोट: बामियाल सेक्टर भारत-पाकिस्तान सीमा से आतंकियों के प्रवेश करने के इनपुट पर पुलिस हुई अलर्ट


बमियाल सेक्टर भारत-पाकिस्तान सीमा से आतंकियों के प्रवेश करने के इनपुट पर पुलिस अलर्ट हो गई है और चेकिंग शुरू कर दी है। पंजाब से जम्मू-कश्मीर जाने और आने वाले वाहनों को माधोपुर, कोहलियां और कथलौर नाकों पर खंगाला जा रहा है। जम्मू-कश्मीर के सांबा पुलिस ने प्रमंडल क्षेत्र से संदिग्ध को गिरफ्तार किया था। पुलिस का दावा है कि गिरफ्तार किया गया व्यक्ति मानसिक रूप से कमजोर था। पुलिस इसे रूटीन चेकिंग बता रही है।

पुलिस ने नाके लगाकर सुरक्षा कड़ी कर दी है।पठानकोट के अति संवेदनशील बमियाल सेक्टर में सुरक्षा कड़ी करते हुए सर्च ऑपरेशन चलाया। थाना नरोट जैमल सिंह और बमियाल पुलिस ने जम्मू-कश्मीर के साथ लगते कथलौर, कोहलियां स्थित नाकों पर सुरक्षा कड़ी कर दी।वाहनों की चेकिंग की जा रही है।

मोहाली: एयरपोर्ट रोड पर घंटो लोग जाम में फंसे रहे

मोहाली: मोहाली एयरपोर्ट रोड पर आज गाड़ियों का भारी जाम लगा रहा। कोई भी इस ट्रैफिक जाम को कंट्रोल करने के लिए नहीं खड़ा था। गाड़ियों के जाम की वजह से बहुत से लोगों को मुसीबत का सामना करना पड़ा। रोड पर ट्रैफिक पुलिस का कोई भी कर्मचारी नहीं था।

लोगों की गाड़ियां जाम में फस गई। कई घंटो लोग इस जाम में फंसे रहे।

अमृतसर: पंजाबी गायक गुरदास मान ने खुद ही अपने नाम पर मुर्दाबाद के नारे लगाए

अमृतसर में, कुछ सिख संगठन आज पंजाब के गायक गुरदास मान के खिलाफ नारे लगा रहे हैं। इस दौरान मान ने मीडिया के सामने खुद गुरदास मान मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। सिख संगठनों ने काली झंडियो से प्रदर्शन किया और कहा कि जब तक गुरदास मान माफी ना मांग ले वे विरोध प्रदर्शन करते रहेंगे।

पंजाबी भाषा पर टिप्पणियों को लेकर विवादों में चल रहे पंजाबी गायक गुरदास मान का अमृतसर में सिख संगठनों ने विरोध किया और गुरदास मान मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे इस पर गुरदास मान ने भी खुद अपने ही नाम के गुरदास मान मुर्दाबाद के नारे लगाए। गुरदास मान ने कहा कि वे अपने को भाग्यशाली मानते है जो भी उनका विरोध कर रहे है उनका धन्यवाद करते है और खुद गुरदास मान मुर्दाबाद का नारा लगाने लगे।

पाकिस्तान/इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पेशावर में सिख युवक की अज्ञात हमलावरों ने की हत्या

पाकिस्तान: पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पथराव की खबर के बाद आज बड़ी खबर सामने आई है। पाकिस्तान में एक सिख युवक की हत्या कर दी गई है। बताया जा रहा है कि पेशावर में रविवार को एक सिख युवक की अज्ञात हमलावरों ने हत्या कर दी। मृतक का नाम रविंद्र सिंह है।

रविन्द्र सिंह मलयेशिया से शादी के लिए पाकिस्तान लौटा था। पेशावर पुलिस ने बताया 25 साल के सिख युवक रविंदर सिंह की पेशावर में कुछ अज्ञात लोगों ने हत्या कर दी। रविंद्र सिंह खैबर पख्तूनख्वां प्रांत के शांगला जिले के रहने वाले थे और पेशावर में वह अपनी शादी के लिए खरीदारी के लिए आए थे।आज चमकनी पुलिस स्टेशन इलाके में उनका शव मिला
शव को पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल ले जाया गया है।

चंडीगढ़/ मनिमाजरा: कार चालक तेज रफ्तार से तीन रेहड़ी वाली को टक्कर मारकर फरार,1 की मौत 3 घायल


मनीमाजरा: कलाग्राम लाइट प्वाइंट पर शुक्रवार सुबह 6:10 बजे एक तेज रफ्तार स्कोडा कार चालक ने पंचकूला के अभयपुर गांव से ग्रेन मार्केट में सब्जी लेने आ रहे तीन रेहड़ी चालकों को जोरदार टक्कर मारी, जिससे तीनों गंभीर रूप से घायल हो गए। कार चालक टक्कर मारकर मौके से फरार हो गया। वहां मौजूद लोगों ने पुलिस कंट्रोल रूम में सूचना दी। मौके पर पहुंची पीसीआर ने तीनों घायलों को सेक्टर-16 स्थित सरकारी अस्पताल में दाखिल कराया, जहां पर डाक्टरों ने एक रेहड़ी वाले को को मृत घोषित कर दिया। रामभवन की हालत गंभीर देखते हुए उसे पीजीआई रेफर कर दिया, जहां पर घायल जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा है।

मृतक की पहचान अभयपुर निवासी सतगुरु प्रसाद (38) के रूप में हुई। घायलों की पहचान रामभवन, रामशरण के रूप में हुई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मॉर्चरी में रखवा दिया है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

अभयपुर निवासी रामशरण सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह सब्जी बेचने का काम करता है। जो अपने कुछ साथियों के साथ शुक्रवार सुबह रेहड़ी लेकर सेक्टर-26 सब्जी मंडी में सब्जी लेने जा रहे थे कि पीछे से आ रही एक तेज रफ्तार सफेद रंग की स्कोडा कार (सीएच-01 बीटी-7077) ने उनकोे जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही सब लोग उछलकर 5 मीटर दूर जा गिरे। यह देखकर आरोपी कार चालक मौके से फरार हो गया। पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों को अस्पताल पहुंचाया। मनीमाजरा थाना पुलिस ने कार चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।